राहुल का बयान सेना का मनोबल तोड़ने वाला,सेना पर राजनीति नहीं होनी चाहिए: अमित शाह

07  अक्टूबर

नईदिल्ली। बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सर्जिकल स्ट्राइक के लिए भारतीय सेना को बधाई दी। अमित शाह ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले दलों और नेताओं के बयानों की भी निंदा की।

सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले केजरीवाल और राहुल गांधी को भी अमित शाह ने घेरा। शाह ने कहा कि सबसे पहले केजरीवाल ने सवाल उठाए, वो पाकिस्तान में हिट हो गए। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने तो इस बार सीमाएं लांघ दीं। वो बताए कि इसमें दलाली करने जैसा क्या था। राहुल का बयान सेना का मनोबल तोड़ने वाला है। सेना पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

शाह ने कहा कि इस समय पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एक साथ है, ऐसे में राहुल का बयान निंदनीय है। कांग्रेस ने पहले मौत का सौदागर फिर जहर की खेती और अब खून की दलाली बोला। मुझे नहीं पता इसका क्या आशय है। मैं जानना चाहता हूं कि क्या दलाली शब्द सेना के लिए था जो देश को बचाने के प्रयासों में लगी है? सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देश गर्व महसूस कर रहा है। राहुल गांधी और कांग्रेस क्यों गर्व महसूस नहीं कर रहे?

पाकिस्तान में मचा हड़कंप ही सबूत

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि मैं मानता हूं कि सर्जिकल स्ट्राइक पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, लेकिन हम जनता के बीच सेना की इस उपलब्धि को पहुंचाएंगे। पाकिस्तान द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक को नकारने पर शाह ने कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो फिर वहां स्पेशल सेशन क्यों बुलाया गया?। सबूत मांगने वालों पर अमित शाह ने कहा कि जो इसके सबूत मांग रहे हैं, उन्हें उसका विश्लेषण करना चाहिए कि पाकिस्तान में क्या कुछ हो रहा है। वहां मचा हड़कंप ही इसका सबूत है।

Total votes: 208