हल्के में न लें मांसपेशियों के खिंचाव का दर्द

25 जून

कभी काम करते-करते, दिनचर्या में भाग दौड़, कभी खेलते या दौड़ते में और कभी यूं ही सामान्य अवस्था में अचानक मांसपेशियों में खिंचाव आ जाता है। इस खिंचाव को हल्के में न लें यह एक बड़ी समस्या भी बन सकती है। अाइए जानते है इस बारे

लक्षण:

जब मसल्स का खिचांव होता है तो तेज दर्द के साथ कुछ अन्य लक्षण भी है जोे आज हम आपको बता रहे है।

- यदि किसी खुली चोट की वजह से मसल्स फटी या टूटी हैं तो खुला घाव नजर आना।

- जहा दर्द हो रहा हो उस जगह पर सूजन।

- चलने-फिरने में भी कठिनाई आना और दर्द होना।

- बेचैन करने वाला दर्द और आराम करने पर भी दर्द का बने रहना।

- प्रभावित स्थान पर त्वचा के रंग का बदल जाना व अकड़न महसूस होना।

- कमजोरी महसूस होना।

करें डॉक्टर से संपर्क:

साधारण मसल्स खिचांव में जहां थोड़े समय में आराम मिल जाता है वहीं इलाज में कुछ हफ्तों में लाभ मिल सकता है वहीं गंभीर मामलों में पर्याप्त इलाज के साथ कुछ महीनों का समय भी लग सकता है ठीक हाेने में। इसलिए मसल्स के दर्द से कुछ दिनों में सामान्य इलाज से लाभ न मिले तो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें।

ऐसे करें बचाव:

-लंबे समय तक खड़े या बैठे रहने, एक ही स्थिति में रहकर किसी काम को करने या किसी भी तरह से मांसपेशियों को आवश्यकता से अधिक थकाने से बचाना।

-व्यायाम करने से पहले वाॅर्म अप जरूर करना।

- सही पोषण न लेना।

- शरीर को एक्टिव बनाए रखना।

- पैरों को आराम देने और फिसलने से बचाने वाले फुटवेयर पहनें।

- कोशिश करें कि रोजमर्रा के जीवन में आरामदायक, कुशन वाले, बिना हील के जूते या फूटवेयर चुनें।

Total votes: 40