कैदी ने किया पानी बर्बाद, तो नहीं कर पाएगा अपनों से मुलाकात

18 जून

इंदौर। इंदौर में जिला जेल में जल संकट से निजात पाने के लिए नया उपाय किया गया, जो कि अब कारगर सिद्ध हो रहा है। कैदियों से जब कहा गया कि पानी बर्बाद करने वालों को सजा में मिलने वाली माफी और मुलाकात रोक दी जाएगी तो पानी का दुरुपयोग बंद हो गया। बताया जा रहा है कि आजाद नगर स्थित जिला जेल में पानी की काफी कमी है।

जानकारी के अनुसार यहां पर एक कुआं और दो बोरिंग हैं, जिनसे कैदियों को पानी उपलब्ध करवाया जाता है। हर साल गर्मी में जलसंकट रहता है। जेल अधिकारियों ने बताया अक्सर देखने में आता था कि सार्वजनिक नल चालू रहता था। पीने के पानी की भी बर्बादी की जाती थी। पुराने पानी को फेंक दिया जाता था।

नहाने और कपड़े धोने में अनावश्यक तौर पर पानी बहाया जाता था। हमने कैदियों के पानी में कोई कमी नहीं की लेकिन उसका दुरुपयोग रोक दिया। जेल के भीतर सार्वजनिक नल के पास प्रहरी और सीओ कैदी तैनात कर दिया गया है। पानी की बर्बादी करने वाले कैदियों को ये लोग चेतावनी देते हैं।

दूसरी बार गलती करने पर सजा का प्रावधान है। जिला जेल अधीक्षक आरसी भाटी ने बताया इस निर्णय से पानी की बर्बादी रुक गई है। नहाने के बाद बचने वाले पानी से खेती की जा रही है।

Total votes: 37