बच्ची के शव को चीटियों ने खा लिया, निलंबित डॉक्टर ने कहा- 'मेरी गलती क्या है'

8 जून

इंदौर। मप्र के जिला इंदौर अस्पताल में डॉक्टरों और कर्मचारियों ने हड़ताल कर दी है। अस्पताल स्टाफ मासूम के शव को चीटियों के द्वारा खाने के मामले में ड्यूटी डॉक्टर और अन्य कर्मचारियों के निलंबन का विरोध कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने एक आदेश जारी कर मंगलवार शाम को डाक्टर अनुभा श्रीवास्तव, नर्स सुशीला, छोटी बाई और सफाई कर्मी मधु बाई पर कार्रवाई करते हुए निलंबित कर दिया था।

उधर डॉक्टर अनुभा श्रीवास्तव का कहना है, 'मैं प्रशासन से पूछना चाहती हूं कि मेरी गलती क्या है। क्या नाईट ड्यूटी पर उपस्थित रहना और बच्ची के परिजनों को सही जानकारी देना मेरी गलती है'
उन्होंने कहा कि इस मामले में ना तो कोई कमेटी का गठन किया गया और बगैर किसी जांच के कार्रवाई कर दी गई। डॉ. श्रीवास्तव का कहना है कि उनसे भी किसी तरह का कोई जवाब नहीं मांगा गया और सीधे निलंबन के आदेश जारी कर दिए।

ये है मामला
इंदौर के ज़िला अस्पताल में करीब सात घंटे तक तीन दिन की बच्ची का शव चीटियां खाती रहीं।इस नवजात की टीका लगाने के बाद तबियत बिगड़ी और फिर सोमवार को उसकी मौत हो गई। नवजात की मौत के बाद माता-पिता परेशान होकर उसके जल्द पोस्टमार्टम के लिए गुहार लगाते रहे, लेकिन डॉक्टरों ने उनकी बात को अनसुना कर दिया। इस दौरान मॉर्चरी में चीटियां उनकी बेटी के शरीर को खाती रहींं।

  इंदौर से सम्बंधित अन्य ख़बरें पढ़ें  

Total votes: 32