लोहिया जिन्दा होते तो मुलायम को पार्टी से निकाल देते: मायावती

15 जनवरी.

लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज केंद्र और UP की सपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने UP में सैफई महोत्सव के जरिए सरकारी धन के दुरुपयोग का आरोप लगाया तो वहीं दूसरी ओर केंद्र सरकार की नीतियों को भी कोसा। मायावती ने कहा कि अगर राम मनोहर लोहिया आज जिंदा होते तो सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव को पार्टी से ही निकाल देते। उन्होंने सैफई महोत्सव में उड़ाए गए धन पर सपा की आलोचना की। बसपा सुप्रीमो मायावती का 60 वां जन्मदिन शुक्रवार को लखनऊ में जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया गया।

मायावती ने कहा कि UP सरकार 50 सूखा प्रभावित जिलों में किसानों के प्रति उदासीन है, जबकि सैफई महोत्सव में सरकारी धन पानी की तरह बहाया गया है। उन्होंने कहा कि लोहिया के नाम पर समाजवादी पार्टी द्वारा दलित और पिछड़ों के साथ भेदभाव किया जा रहा है, समय आने पर हम इसका ब्याज सहित इनको (सपा) जवाब देंगे। यूपी में कानून-व्यवस्था बुरी तरह ध्वस्त है। उन्होंने अखिलेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी सरकार द्वारा चलाई गई जनकल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया गया। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने दलितों, संतों, और महापुरुषों के स्थलों के साथ छेड़छाड़ की।

मोदी की योजनाएं जनता ने रिजेक्ट कीं

केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि केंद्र की ओर से सांप्रदायिक शक्तियों को छूट देने से देश में अफरा-तफरी का माहौल है। उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान को लेकर केन्द्र सरकार की नीतियां सही नहीं हैं।

मोदी ने जनता से किए वादे पूरे नहीं किए

मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला करते हुए कहा कि उन्होंने जनता से किए गए वादे पूरे नहीं किए। उन्होंने काले धन के मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि अभी तक किसी के भी खाते में 20-20 लाख रुपए नहीं आए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की कई योजनों को जनता ने रिजेक्ट कर दिया है। केंद्र की योजनाएं दलित विरोधी हैं और यह सरकार धन्नासेठों के लिए काम कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अभी तक काला धन वापस न लाने पर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि दलितों और पिछड़ों को आरक्षण का लाभ नहीं मिल रहा है। दलितों का हक छीना जा रहा है। उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वह दलित वोट को अपने पक्ष में करने में लगी हुई है लेकिन ऐसा होगा नहीं।

जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया जन्मदिन

बसपा सुप्रीमो मायावती का 60 वां जन्मदिन शुक्रवार को जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया गया। इस मौके पर राजधानी लखनऊ में पार्टी के नेताओं ने केक काटकर मायावती को जन्मदिन की बधाई दी। पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए 2017 के विधान सभा चुनाव के लिए तैयार रहने को कहा। इस दौरान मायावती ने कहा कि प्रदेश में अराजक तत्वों और गुंडों की सरकार है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी बसपा मान्यवर काशीराम के दिखाए गए रास्ते पर चल रही है।

मायावती ने कहा, दलित महापुरुषों के आशीर्वाद से हम जनकल्याण दिवस के रूप में जन्मदिन मनाते हैं जबकि सपा धन बर्बाद करती है। इस मौके पर मायावती ने ब्लू बुक को लांच किया उन्होंने सभी वि‍धानसभा को-ऑर्डिनेटरों को जनता को जोड़ने के निर्देश दिया। गौरतलब है कि मायावती ने अपने जन्मदिन के अवसर पर चुनाव का बिगुल फूंकने के साथ ही 2017 विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं।

Total votes: 31