व्रत में खाएं कुट्टू के आटे की स्वादिष्ट पूरी

7 जून

व्रत में हम सामान्य आटे की चीजें नहीं खा सकते। इसलिए इस समय हम लोग कुट्टू के आटे या सिंघाडे़ के आटे का प्रयोग करते हैं। कुट्टू के आटे से पकौडे। और पूरी बनाई जाती है। ये दोनों ही खाने में बेहद स्वादिष्ट होते हैं। कुट्टू के आटे की पूरी बनाने के लिए इसके आटे में उबला आलू या अरबी मिलाई जाती है। इससे कुट्टू का आटा आसानी से गूंथा जाता है और इसकी पूरियां भी खस्ता बनती हैं। आप भी अपने व्रत के समय कुट्टू के आटे की पूरी बनाकर खाएं।

सामग्री

कुट्टू का आटा - 100 ग्राम (1 कप)

अरबी या आलू - 100 ग्राम (दो मध्यम आकार के आलू)

नमक सैंधा - 1/2 छोटी चम्मच

कालीमिर्च- 1/4 छोटी चम्मच- एक टेबल स्पून

हरा धनियां - 1-2 टेबल स्पून बारीक कटा हुआ

विधि

आलू या अरबी, जिसे भी आप आटे में मिलाने वाले हैं उसे उबाल लें। उबालने के बाद इसे छील कर मैश कर लें। एक बर्तन में कुट्टू का आटा छान कर इसमें मैश किया आलू या अरबी डाल लें। सेंधा नमक, काली मिर्च और हरा धनिया डाल कर सारी चीजों को अच्छे से मिलाएं और आटे को पूरी के आटे की तरह सख्त गूंथ लें। गूंथने के बाद आटे को 15-20 मिनट के लिए ढक कर रख दें ताकि ये थोडा सैट हो जाए। अब इस आटे से थोडा-थोडा आटा तोड़ते हुए छोटी-छोटी लोईयां बना कर रख लीजिए।

कढाई में तेल डाल कर गरम होने के लिए रख दें। तैयार की हुई एक लोई उठाकर इसे सूखे कुट्टू के आटे में लपेटें और चकले पर 2-3 इंच के व्यास में बेल लें। तैयार पूरी को ध्यान से गरम तेल में डाल कर पलट-पलट कर सेकें। ब्राउन होने पर इसे तेल से निकाल कर किसी नैपकिन पेपर बिछी प्लेट में रख लें। बाकी सारी लोईयों से भी इसी तरह पूरी बना कर तैयार कर लें। कुट्टू के आटे की स्वादिष्ट पूरियां तैयार हैं। आप इन्हें आलू फ्राई या दही के साथ खा सकते हैं।

Total votes: 37